Tuesday, January 3, 2017

शिकायत

एक महिला अपने छोटे से बच्चे के साथ समुद्र के पास
खेलने गई । समुद्र की लहरें तेजी से आ-जा रही थीं। उसने अपने बेटे की बाजू पूरी मजबूती से पकड़ी हुईं थीं। दोनों पानी के साथ खेल रहे थे। अचानक पानी की एक विशाल लहर उनके सामने प्रकट हुई। ज्वार की यह लहर उनके ठीक सामने ही ऊपर और ऊपर उठती चली गयी और उनके ऊपर छा गयी । जब पानी वापस लौटा, तो छोटा बच्चा कहीं दिखाई नहीं दिया । शोकाकुल माँ ने अपने बच्चे को खूब आवाज लगायी और खोजा । वह चिल्लाती जा रही थी और पानी में हर तरफ खोज रहीं थीं। धीरे-धीरे यह तो स्पष्ट हो गया की उसे सागर बहा ले गया है। पुत्र के वियोग मे व्याकुल माँ ने प्रार्थना की 'हे देव, मुझ पर कृपा करो , मुझ पर रहम करो मेरे पुत्र को वापस कर दो । मैं हमेशा आपकी आभारी रहूंगी । मैं और मेरे पति कभी कोई गलत काम नहीं
करेंगे। बड़ों का हमेशा सम्मान करेंगे। बस मेरे पुत्र को वापस दे दिजिए । बस, तभी एक पानी का दिवाकर प्रकट हुआ और उसके सिर पर गिर गया। जब पानी वापस लौटा तो उसके पास खड़ा बच्चा पाया। बच्चे को गले से लगायी और ऊपर देख कर बोला बच्चा तो लौट आया पर उसने महंगी टोपी पहन रखी थी। बच्चा की कीमती टोपी खो गयी। अब वह इसलिए प्रसन्न नहीं हो पा रही थी कि बच्चे की टोपी खो गयी।
"जीवन में हमने क्या पाया, ईश्वर को इसकी धन्यवाद देने के वजाए। क्या खोया इसकी शिकायत करते रहते हैं।"

No comments:

Post a Comment

Welcome to giteshs78.
Please enter your massage & comment.

Featured Post

Aeroplane की खोज

पौराणिक कथाओं में उड़न खटोले और विमान का जिक्र अकसर होता आया है. रामायण में जहां सीता का अपहरण करने के लिए रावण ने अपने प्राइवेट उड़न खटोले का...